जानिए Laser Printer क्या है और इसके लाभ और नुक्सान के बारे में – पूरी जानकारी

Laser Printer Detail In Hindi: लेज़र पिंटर क्या है, लेज़र प्रिंटर के कार्य, लेज़र प्रिंटर के लाभ, लेजर प्रिंटर के उपयोग तथा लेजर प्रिंटर का क्या नुकसान है - संपूर्ण जानकारी हिंदी में

आज हम जानेंगे Laser Printer क्या है और इसके लाभ और नुक्सान के बारे में। तथा Laser Printer Detail In Hindi: लेज़र पिंटर क्या है, लेज़र प्रिंटर के कार्य, लेज़र प्रिंटर के लाभ, लेजर प्रिंटर के उपयोग तथा लेजर प्रिंटर का क्या नुकसान है।

लेज़र प्रिंटर (Laser Printer) क्या है ?

लेज़र प्रिंटर नॉन-इम्पैक्ट प्रिंटर हैं, ये प्रिंटर बिन्दुओं द्वारा ही मुद्रण करते हैं। परन्तु ये बिंदु बहुत छोटे व् पास-पास होने से अक्षर अति स्पष्ट छपते हैं। सामान्य लेज़र प्रिंटर 300*300 बिंदु छापता है। आधुनिक लेज़र प्रिंटर 600*600 या 1200*1200 या उससे भी अधिक रेसोलुशन (Resolution) के होते हैं।

लेज़र प्रिंटर के कार्य

Laser Printer के कार्य करने की विधि मूल रूप से दस्तावेजों की प्रतियां बनाने वाली (Exrox Photo Copiers) मशीनों की तरह ही होती हैं। अंतर केवल सिलिकॉन के बेलन पर विद्दुत-चार्ज के रूप में अक्षर बनाने का है। फोटो कॉपी की मशीन में तेज रौशनी का प्रयोग होता और लेज़र प्रिंटर में लेज़र किरणों का लेज़र की सहायता से मॉड्युलेटर से होता हुआ बहु-दर्पणी ड्रम पर फेंका जाता है।

प्रकाश पुंज के कारण छपने वाले चिन्ह या आकार के गुप्त प्रतिबिम्ब की प्रकाश चालक सतह आवेशित हो जाती है, जिसे टोनर (Toner) कहते हैं। इससे कागज की सतह पर अक्षर उभर आते हैं। लेज़र प्रिंटर की प्रिंटिंग सभी से अच्छी होती है। इस डिवाइस ने प्रिंटिंग की दुनिया में क्रांति ला दी है।

दूसरे शब्दों में Laser Printer पृष्ठ पर आकृति (Images) को जिरोग्राफी (Xerography) तकनीक से छपता है। जेरोग्राफी (Xerography) तकनीक का विकास जिरॉक्स (Xerox) मशीन (फोटोकापियर मशीन) के लिए हुआ था। जेरोग्राफी एक फोटोग्राफी जैसी तकनीक है, जिसमे फिल्म, एक आवेशित पदार्थ का लेपन युक्त ड्रम (Drum) होता है। यह ड्रम फोटो-संवेदित (photo sensitive) होता है। इसके द्वारा कागज़ पर आउटपुट को छापा जाता है।

कंप्यूटर से प्राप्त आउटपुट, लेज़र स्रोत (laser source) से लेज़र-किरण (laser ray) के रूप में उत्सर्जित होता है। यह लेज़र किरण लेंसों द्वारा एक घूमते हुए बहुभुजाकार (Poligon Shaped) दर्पण पर फोकस की जाती है, जहां से परावर्तित होकर आउटपुट की यह लेज़र-किरण लेंसों द्वारा पुनः एक अन्य दर्पण पर फोकस होती हुई परावर्तित होकर फोटो-संवेदित ड्रम पर गिरती है। घूमने वाला बहुभुजाकार दर्पण आउटपुट की लेज़र-किरण को संपूर्ण फोटो-संवेदित ड्रम पर छपने वाली लाईनो के रूप में डालता है।

जब यह ड्रम घूमता है तो आवेशित स्थानों पर टोनर (Toner-एक विशेष स्याही का पाउडर) चिपका लेता है। इसके बाद कागज पर स्थानांतरित हो जाता है, जिससे आउटपुट कागज पर छप जाता है। यह आउटपुट अस्थाई होता है, टोनर को स्थाई रूप से कागज पर सील (Seal) करने के लिए इसे गरम रोलर से गुजरा जाता है।

अधिकतर Laser Printer में एक अतिरिक्त माइक्रो प्रोसेसर (Micro Processor), रैम (RAM) और रोम (ROM) होते हैं। रोम (ROM) में फॉण्ट (Font) और पृष्ठ को व्यवस्थित करने के प्रोग्राम संगृहीत (stored) रहते हैं। लेज़र प्रिंटर सर्वश्रेष्ठ छापता है।

Note: रंगीन लेज़र प्रिंटर उच्च क्वालिटी का रंगीन आउटपुट देता है। इसमें टोनर होता है, जिसमे विविध रंगों के कण उपलब्ध रहते हैं। प्लास्टिक की शीट या अन्य किसी शीट पर भी ये प्रिंटर आऊटपुट को छाप सकते हैं।

लेजर प्रिंटर के उपयोग

Laser Printer का उपयोग कंप्यूटर सिस्टम में 1970 के दशक से हो रहा है। पहले ये मेनफ़्रेम कंप्यूटर में उपयोग किया जाते थे। 1980 के दशक में Laser Printer का मूल्य लगभग 3000 डॉलर था और यह माइक्रोसॉफ्ट कंप्यूटर के लिए उपलब्ध था।

ये प्रिंटर आजकल अधिक लोकप्रिय हैं, क्योंकि ये अपेक्षाकृत अधिक तेज और उच्च क्वालिटी में टेक्स्ट और ग्राफ़िक्स छापने में सक्षम है। डेस्कटॉप पब्लिशिंग (DTP) में इसका प्रयोग आमतौर पर किया जाता है।

इनका उपयोग छपाई की ऑफसेट मशीन की मास्टर (Master) कॉपी छापने में होता है, जिनसे आउटपुट की प्रतिलिपियाँ अधिक संख्या में छापी जाती है।

लेज़र प्रिंटर के लाभ

  • उच्च प्रिंटिंग गति।
  • दाग-धब्बा रहित छपाई।
  • बड़ी मात्रा में छपाई के लिए उपयुक्त।
  • प्रिंट आउट जल संवेदनी (water sensitive) नहीं।
  • प्रति पृष्ठ छपाई की इंकजेट प्रिंटर के अपेक्षाकृत कम कीमत।
  • उच्च रेसोलुशन (सामान्यतः 600 से 1200 डॉट्स प्रति इंच तक) ।

लेजर प्रिंटर का क्या नुकसान है ?

  • वार्म उप टाइम आवश्यक।
  • इंकजेट प्रिंटर से बड़ा तथा भारी।
  • टोनर तथा ड्रम का बदलना महगा।
  • इंकजेट प्रिंटर से अधिक महंगा।
  • आमतौर पर विभिन्न प्रकार के रंगो में तथा उच्च क्वालिटी आकृतियों जैसे फोटो छापने में कम सक्षम।

Conclusion

हम उम्मीद करते हैं कि आपको Laser Printer क्या है और इसके लाभ और नुक्सान के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में जरूर पसंद आयी होगी। आपको हमारा यह आर्टिकल लेज़र प्रिंटर की जानकारी कैसा लगा comment करके जरूर बताए तथा इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर साझा करे।

ताकि उन्हें भी लेज़र पिंटर क्या है, लेज़र प्रिंटर के कार्य, लेज़र प्रिंटर के लाभ, लेजर प्रिंटर के उपयोग तथा लेजर प्रिंटर का क्या नुकसान है के बारे में जानकारी हो सके। अगर फिर भी आपको इस आर्टिकल को लेकर कोई शंका है तो आप हमें comment करके पूछ सकते हैं। हम आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here