Passage Indexing क्या है और कैसे काम करता है ? पूरी जानकारी

passage indexing क्या है और यह कैसे काम करता है तथा feature snippet और passage indexing में क्या अंतर है

Passage Indexing, जी हाँ ! सुनने में थोड़ा अज़ीब सा ज़रूर लगा होगा या हो सकता आपने इसके बारे में कभी ना सुना हो। यदि आप एक Blogger या computer field से जुड़े रहते हो तो आपको इसके बारे में जानना बहुत ही जरुरी है।

तो आज के इस आर्टिकल में आप जानने वाले हैं कि आखिर ये Passage Indexing क्या है ? कैसे आप अपने लिखे हुए content को Passage Indexing के लिए तैयार कर सकते है तथा Feature Snippet से यह कैसे अलग है?

Passage Indexing क्या है ?

Passage Indexing गूगल का एक ऐसा algorithm है, जिसमें गूगल search query के हिसाब से result दिखाता है। यह सारे result को दिखाने के लिए google web पोस्ट के passages को index करता है। जब search query उस indexed passage से match करती है तो गूगल passage indexing वाला result दिखाता है। 

इस नयी ranking technology को गूगल ने 11 फ़रवरी 2021 को officially लागू किया। इससे सबसे ज्यादा फायदा user को होता है, जिसे अपने query के जवाब के लिए काफी सारे web pages को खोलने की आवश्यकता नहीं पड़ती।

आपको शायद याद होगा जब गूगल 2019 के सितम्बर महीने में BERT Algorithm Update ले के आया था। तब गूगल ने ये कहा था की इसका असर केवल 10% Search Queries पर होगा।

लेकिन semrush के एक रिपोर्ट के मुताबित BERT Algorithm Update का असर 99% Search Query पर हुआ। Passage Indexing की शुरुआत भी यही से हुई। 

अगर आपके पास 1000 से लेकर 5000 शब्दों का कोई पोस्ट है, जिसमें आपने काफी सारे subheadings इस्तेमाल किये है।

मान लेते है कि आपका टॉपिक है SEO क्या है ? SEO के इस आर्टिकल में हम Off-Page SEO, On-Page SEO, Technical SEO, White Hat SEO, Grey Hat SEO, Black Hat SEO और Video SEO जैसे Subheading आते है।

जब आप एक पोस्ट में इन सभी subheading को लिखते है तो गूगल H2, H3, H4, H5 और H6 Heading के नीचे आने वाले paragraph को अलग से index करता है।

इसलिए काफी SEO Experts और Tools जैसे Rank Math, All In One SEO, Yoast SEO हमेशा अपने Content को छोटे-छोटे paragraph में लिखने को कहते है। 

बहुत बार SERP के FAQ में भी आपके passage देखने को मिलते है। क्योंकि FAQ Schema आने से पहले ही Google ने Passage Indexing की testing करना शुरू कर दिया था।

जिसकी जगह अब FAQ Schema धीरे-धीरे करके ले रहा है। क्योंकि अब हम अपने Webpages के FAQ वाले Content को Structured Markup Data की मदद से गूगल को समझा सकते है।  

Passage Indexing और Ranking

Passage Indexing का मतलब ये नहीं कि गूगल आपके paragraph को search result में दिखाने वाला है, बल्कि इसे हम एक ranking factor मान सकते है। 

इसको और गहराई से समझने के लिए हम एक आसान-सा example लेते है। जैसे आप Google search Bar में guide लिखते थे तो पहले गूगल आपके heading को देखकर आपके Guide को SERP में दिखाता था।

लेकिन Passage Indexing आने के बाद गूगल आपके एक-एक पैराग्राफ को index करेगा ताकि जब भी कोई यूजर अपनी query पूँछता है तो अगर आपके paragraph में उसका जवाब है तो वह तुरंत उस passage को दिखा देगा। 

इसकी best practice वो लोग कर सकते है, जिनका content लंबा होता है। इसमें Relevant Keywords की अहम भूमिका होती है।

खासकर जब आपका cotent english भाषा मे नहीं है, तब आप Related Keywords को अपने paragraph में इस तरह इस्तेमाल करें की वो आपके शब्दों के साथ घुल जाए।

खासकर ‘hindi content‘ में। अगर आपको ऐसे Keywords नहीं मिलते, तो ऐसे keywords खोजिये, जो की आपके post को दर्शाते हो। 

Passage Indexing का दूसरा मतलब ये भी होता है कि गूगल आपके content के हर एक line को खुद से check करता है और उसके बाद ही उसे index करता है। 

Feature Snippet और Passage Indexing में अंतर

Google के मुताबित Feature Snippet में एक webpage के उस relevant passage को लिया जाता है, जिसमें users के query को उत्तर देने की क्षमता हो अर्थात satisfying हो। इसमे web page की अहम भूमिका होती है। 

Search Engine Land के Founder Danny Sullivan का मानना है कि webpages के feature snippet में आने की सबसे बड़ी वजह होती है Voice Search, वहीं दूसरी तरफ Passage Indexing में कभी-भी आपके webpage के relevency को ध्यान नहीं दिया जाता, बल्कि आपके passages को index किया जाता है।

Passage Indexing के लिए क्या करें ? 

इंटरनेट में Passage Indexing के लिए क्या करें ? यह एक बहुत ही सामान्य सवाल है, जो की आपके मन मे भी ज़रूर आ रहा होगा।

काफी लोगो का मानना है कि Passage Indexing में Google सबसे ज्यादा importance आपके passages को देता है न कि meta description, title, tags और heading को। 

इसके लिए आपको केवल छोटे-छोटे paragraph लिखने होंगे। कोशिश करें कि passage लिखते समय इधर-उधर की बातों के बजाय केवल उन्हीं चीज़ों को लिखें, जो की एक users के पूछे गए सवाल का जवाब दे सके। 

अपने content में हर एक passage को एक जवाब की तरह लिखें और heading को एक सवाल की तरह। इससे आप passage indexing के साथ-साथ Feature Snippet के लिए भी तैयार हो सकते है।

Passage indexing के सवाल को लेकर John Mueller द्वारा यह कहा गया कि हो सकता है Google, indexed किये हुए passages, Feature Snippet की जगह ले और ये भी हो सकता है user के search query को पूरा करने के लिए गूगल Passages को भी SERP में ranking देने लगे।

Google काफी वक्त से meta description पर ध्यान नही दे रहा है। अब इसे हटाने के लिए Passage Indexing का आना SERP की पूरी रूप रेखा ही बदल दिया है। 

आखिर में

आज के SEO के हिंसाब से Passage Indexing आज के वक्त में काफी महत्वपूर्ण बन चुका है। वैसे इसका असर अब English Content के साथ-साथ Hindi Blogging में भी शुरू हो चुका है।

जैसा आपको ऊपर ही बताया गया है कि लंबे Content जो 1000 के ऊपर होते है, उन्हें इसका ज्यादा फायदा मिलेगा, तो आप भी अपने लंबे content के paragraph को इस तरह बनायें ताकि पढ़ने वाले को लगे कि paragraph किसी सवाल का जवाब है। 

उम्मीद है कि Passage Indexing क्या है ? और यह कैसे काम करता है ? के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी और आप भी इसे use कर पायेंगे। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा comment करके ज़रूर बतायें।

यदि आप भी अपनी हिंदी भाषा से प्यार करते है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर करें और हिंदी राष्ट्रभाषा के अभियान को सफल बनाये, जहाँ आपको हर नयी-नयी चीजों के बारे में जानकारी प्राप्त होती रहेगी। इस अभियान से जुड़ने के लिए आप Allhindime telegram को join कर सकते हैं।

Suraj Jha (Author):- यदि आपको digital marketing, seo, ppc, sem, smm, blogging tips, tech news और full form के बारे में जानना चाहते है तो आप Divineseohindi पर visit कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here